Grid View
List View
Reposts
  • shivam0920 2h

    दस्तक और आवाज़ तो
    कानों के लिए हैं,
    जो रुह को सुनाई दे उसे
    खामोशी कहते हैं.....
    ©shivam0920

  • shivam0920 4d

    "मेरी रूह थी बंजर, मैं इंसान था पत्थर,
    तुमने उंगलियाँ फ़ेर के बागवान कर दिया। "
    ❤❤❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 4d

    कुछ मजबूरीयॉ हैं जो दूर हूँ तुमसे
    वरना गंगा को घाट से कैन अलग रख पाया है

    ©shivam0920

  • shivam0920 4d

    तुमको दिल में कुछ एेसे बसाया है,
    जैसे "गंगा" ने "बनारस" बसाया है
    ❤❤❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 5d

    कभी कभी उसको देख लेना भी,
    सुकून पाने के लिए काफी होता है
    ❤❤❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 5d

    इश्क़ हो या दोस्ती हो बेमिसाल करते हैं,
    ये सांवले रंगवाले भी कमाल करते है....
    ❤❤❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 5d

    मेरी रूह में समायी है तेरी ही "खुशबू"
    लोग कहते हैं तेरा "इत्र" लाजवाब है
    ❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 1w

    बडी लम्बी खामोशी से गुजरा हूँ मै
    किसी से कुछ कहने की कोशिश मे
    ❤❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 1w

    मजबूरियों से हारा हूँ,
    मज़बूत हो के वापस आऊँगा।
    मैं फिर से बनारस हो जाऊँगा ❤
    ©shivam0920

  • shivam0920 1w

    They said:
    Chai is bad for health

    I said:
    Wo Mohabbat hi kya jo
    takleef na dee.....
    ©shivam0920