shriradhey_apt

Founder of Jhilmil Sitaare, First Book - "Bounded एहसास" stop advertising in comments please ��

Grid View
List View
Reposts
  • shriradhey_apt 2h

    यूँ तो बहुत कुछ होता है ना हमारे पास तुमसे कहने को, पर जब भी तुमसे मिलते है तो कभी कुछ कह ही नहीं पाते क्यूँकि तब तुम्हें सुनना हमें ज्यादा पसंद है। इक अज़ीब सी कशिश है जो तुम्हारी ओर खींचें रखती है, एक अनजान सा रिश्ता जिसे हमें चारों पहर रोज़ाना बिना नागा ख़ुशी-ख़ुशी जीते है। आज बहुत मन हुआ कि तुम्हें उन सब पलों, दिनों, महीनों और सालों के लिए शुक्रिया कह दें जिनके हर लम्हें में बस तुम थे। ऐसा नहीं है कि ख़ुद को तुम बिन अकेला पाया था पहले पर तुम भी कुछ न कुछ अधूरा सा था शायद कहीं जो तुम्हारे आने से पूरा हुआ। ऐसा नहीं कि तुमसे पहले किसी ने हमें सुना नहीं पर हमनें तुमसे पहले कभी किसी को कुछ कहा ही नहीं। शायद यहीं छोटी-छोटी बातें एक बड़ी ज़गह ख़ाली कर गयी जिसे आकर तुमने भरी। जाने कैसा लगेगा तुम्हें पढ़ कर, पर शायद यहीं वो बात है जो तुम संग होते हो तो बस हलक तक आती है पर ज़ुबान पर नहीं, कहीं मौका ही ना मिले कभी जतलाने का तो अब ही सही। इस मकान को घर बनाने के लिए तुम्हारा दिल से शुक्रिया।

    ©shriradhey_apt

    Read More

    कुछ ऐसा है मेरा वो

  • shriradhey_apt 11h

    वो बिल्कुल मेरे जैसा है, एक बार नहीं कई दफ़ा लगता है ऐसा हमें। खाने-पीने से लेकर, बाहर आने-जाने तक लगभग सभी कुछ मिलता है उससे। जब अपनी ही पसंद उसमें दिखती है तो सच मानिए बहुत अच्छा लगता है। यूँ तो उसे बिन-बताए बहुत कुछ कर लेते हैं हम पर फ़िर भी कभी-कभी अपनी ही पसंद पर उसकी रज़ामंदी की मोहर लगवाने के लिए उसे भी कुछ गिनी-चुनी चीज़ें दिखा देते है, वो भी ख़ुश और हम तो ख़ुश हैं ही। जाने क्यूँ लोग ज़िद किया करते है, हमारी बात तो वो वैसे ही झट से मान लिया करता है। अब उससे ज़िद करने की शिकायत करें या फ़िर अपनी ही पसंद पर रश्क़ करें, कभी-कभी बहुत confused हो जाते है हम कि क्या करें। ऐसी बहुत सी छोटी-छोटी बातें उसे सबसे अलग करती है पर हमारे और क़रीब, क्या करें कुछ ऐसा ही है ना मेरा "वो" .....

    ©shriradhey_apt

    Read More

    कुछ ऐसा है मेरा वो

  • shriradhey_apt 18h

    @prernaanmol ������������

    चलिए सब हमारे साथ जन्मदिन मनाइए टोली की सबसे बड़ी शैतान का, जी-जी कोई और नहीं है वो, जी सही पहचाना आप सबकी - हमारी Prenu,jigna maa ki syani beti, rolu ki anmolratan aur sabki fav. सबके लिए कुछ न कुछ करती रहती है फ़िर चाहे उसकी chidi हो या फिर किसी दोस्त की शादी या फ़िर किसी का जन्मदिन, सबको special feel करवाने वाली भी बहुत special है, कोई भूले ना उसे wish करना।

    Happy waala bday �� loads of luv ❤️❤️

    Read More

    .

  • shriradhey_apt 1d

    डर को भी डर लगता है तेरे क़रीब आने से,
    तू जो बदल सा गया अब ज़माने से !!
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 2d

    तुम पर कोई बात हो,
    ख़ुदा न करें
    ऐसी कोई रात हो !!

    Read More

    सुना हमनें कि घबरा रहें हो तुम,
    जतला रहें या बतला रहें हो तुम !!
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 2d

    U can't stop me, loving you,
    I can't force u to, love me!!
    As simple as this !!
    ©shriradhey_apt

    Read More

    मेरी पहुँच तेरी पहुँच जितनी कहाँ है,
    सोच भी मेरी तुझसे आगे जाती नहीं!!
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 3d

    क्यूँ तुम गुम से रहते हो अपनी ही दुनिया में,
    तुम मुझे दुनिया भी तो कहते थे ना कभी ??
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 3d

    दर्द का भी अपना ही एक उसूल है,
    सहने वाले को ही ज्यादा मिलता है !!
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 1w

    नफ़रत एक मज़बूत एहसास है,
    जो तुम्हारे और क़रीब लाता है!!
    ©shriradhey_apt

  • shriradhey_apt 1w

    हम चीज़ों को कैसे समझते है यह हमें हमारे संस्कार सिखाते है। सही को सही समझना और ग़लत को ग़लत कहना !!

    Read More

    सच क्या है??

    जो तुम कह रहें,
    या
    जो हम समझ रहें !!

    क्या दोनों ही सही है??
    ©shriradhey_apt