sona06

I am not broken , i am poet

Grid View
List View
Reposts
  • sona06 17w

    प्रेम !!

    मैं नही ला सकूँगा
    तुम्हारे लिए तोड़ कर कुछ भी ।

    क्योंकि प्रेम में
    कुछ भी तोड़ना अच्छा नही है ।

    वादे , दिल , चाँद या कुछ भी !!
    ©sonalsiddhu

  • sona06 17w

    बड़ी ही हेरान हूँ ,

    दिल की बेहदे देख कर ।

    लगता है बर्बाद होकर ही मानेगा !!!
    ©sonalsidhu01

  • sona06 17w

    अंजान

    अंजान थे ,

    अंजान ही रहते तो अच्छा था ।

    पर चलो !!

    तुम न मिले न सही ,

    ज़िन्दगी का सबक मिल गया ।
    ©sonalsiddhu

  • sona06 17w

    एक विचार !

    क्या लोग ग़लत होते है ?

    या बस उनके विचार तुमसे अलग होते हैं !!

    किसी को बस इसलिए गलत ठहराना क्योंकी

    वो तुम जैसे नही सोचता या तुम जैसे नही है

    क्या ऐसा करना सही है ?
    ©sonalsiddhu

  • sona06 18w

    #Umeed51 #Umeed52

    #umeed51 के लिए मुझे चुनने के लिए मै @rnsharma65 @goldenwrites_jakir जी का बहुत बहुत आभार प्रक्ट करती हूं । आप का बहुत बहुत धन्यवाद मुझ जैसे नई कलाकार को ये मौका देने के लिए ।
    जैसे कि आप जानते हैं मैं नई हु इस मंच तो शायद मैं ये जिमेदार अच्छे से नही निभा पाई । पर आगे के लिए मुझे बहुत जानकारी मिली । तो इस आशा के साथ कि मैं अगली बार अच्छे से ये ज़िम्मेदारी सम्भाल पाऊँगी मैं #umeed52 के लिए @a_m_r_i_t_a जी को चुनती हु ।

  • sona06 18w

    उड़ान ख्वाहिशो की

    जन्म लिय था पिंजरे में ,
    उड़ान भर्ती भी तो कैसे ?

    बंधी थी मोह की बेड़ियों से ,
    बेड़ियाँ तोडती भी तो कैसे ?

    अब तो आस ही थी बस !!

    पिंजरा कहे खुद एक दिन ,
    जा जरा गिन के तो आ
    कितने आसमान में है तारे

    "ये पिंजरा नही घर है तेरा "
    ©sonalsiddhu

  • sona06 18w

    #umeed51 का topic "उड़ान ख्वाहिशों की "
    मै आशा करती हूं सभी लेख़क अपने ख्वाहिशें को शब्दों के माध्यम से प्रकट करेंगे ओर #umeed51 को आगे बढ़ाएंगे @a_m_r_i_t_a @likhitmeaamit @varu_bhumik @goldenwrites_jakir @ayushsangwan @journey_of_life @monikakapur

    Read More

    #Umeed51

    #Umeed51

  • sona06 18w

    मैं मैं हूं !!!

    मुझसे मैं ही चला जाता तो रह ही क्या जाता !

    मैं जैसा हूं ,
    बुरा हूं
    अच्छा हूं ।

    दुसरो के नज़रिए से

    बदसूरत हू ,
    या सुंदर हूं ।

    लायक हूं
    , या नालायक सही

    पर कम से कम मै मैं ही हूं !!

    कोई और बनने की चाह मुझमे नही है !!
    ओर इस चाह की चाह भी मुझमे नही है !!
    ©sonalsiddhu

  • sona06 18w

    टूटी नही हूँ ,

    बस कुछ ज्यादा महसूस करती हूँ ।

    बोल कर बताना मुश्किल सा लगता है ,

    इस लिए लिख कर बयान करती हूँ ।
    ©sonalsiddhu

  • sona06 18w

    लेख़क

    कभी अपनी काबिलियत पर शक ,

    तो कभी अपनी रचनाओं पर नाज़ होता हैं ।

    शायद इसही तरहा से लेख़क का विकस होता है ।

    ©sonalsiddhu