sweta128

HATE MAA WORD������

Grid View
List View
Reposts
  • sweta128 4d

    Ye dil hai mera koi dukan nahi
    Jo
    Har kisi ke liye khul jay
    ©sweta128

  • sweta128 5d



    Zindagi hame kitna nachati hai yaar
    Or ha
    Dije wale aksar aape hi hote hai
    ©sweta128

  • sweta128 1w



    ये जो जहर उगलती हूँ ना
    एक नाग को मुह लगाया था
    ©sweta128

  • sweta128 1w

    ✍✍✍✍✍

    गिरना ही था तो किसी और तरिके से गिरते
    यूँ निगाहों से गिर कर अच्छा नहीं किया ✍✍✍✍✍✍
    ©sweta128

  • sweta128 1w

    विशवास

    विशवास कोई एक ही इंसान तोड़ता है
    उठ सभी पे से जाता हैं
    ©sweta128

  • sweta128 1w



    मैंने ही हक़ दिया था तूझे मेरा दिल तोड़ने का
    वरना किसकी औकात जो मुझे हाथ भी लगा दे
    ©sweta128

  • sweta128 2w

    Love

    Love

  • sweta128 2w

    मेरी कलम

    ऐ मेरी कलम आज कुछ बेमिसाल कर
    उसके इश्क़ का जिक्र आज सरेआम कर
    वो नहीं है मेरी जिंदगी में तो क्या
    फिर भी आज उसके बारे में सुबह से लिख और लिखते हुए शाम कर
    ©sweta128

  • sweta128 2w

    चाहने का क्या चाह तो हम सबको सकते हैं
    जनाब
    पर बात यहाँ मोहब्बत की है सिर्फ एक से ही होती है
    ©sweta128

  • sweta128 2w

    बातें

    चाहतीं तो मैं भी हूँ कि हर वक़्त तुझसे बात करूँ
    पर आज कुछ मजबूरीयों ने मुझे बांध रखा है
    ©sweta128