Grid View
List View
Reposts
  • thesaloni 9w

    बर्बाद होना पड़ता है,
    यादें....यूं ही नही बना करती !

  • thesaloni 10w

    तुम जो शीरीन ना हुए क्या
    हमको फरहाद कर दो....❤

  • thesaloni 11w

    Guide me in your truth and teach me,
    for you are God my Savior,
    and my hope is in you all day long.

  • thesaloni 12w

    Bure waqt ka bhi bura waqt aata hai....




    Himmat rakho !!!

  • thesaloni 12w

    There is art in every heart.

  • thesaloni 13w

    Khamoshiyan jo sun le meri
    inme tera hi jikr h...

  • thesaloni 13w

    मनचाही राह पर
    चले हैं पाँव जब-जब
    शंका के भूत पैदा होते रहे है हमेशा |

  • thesaloni 13w

    घर से दूर !!

    सुबह शाम की चिक चिक
    घर के तमाम झमेलों से
    निजात पाने को
    मन भरता है उड़ान

    घर से जितनी दूर
    निकल आते हैं हम
    उतना ही याद आता है घर।

  • thesaloni 15w

    तुम समुन्दर की बात करते हो
    लोग आँखों में डूब जाते हैं !

  • thesaloni 15w

    Raaste !

    डिगे भी हैं 
    लड़खड़ाए भी 
    चोटें भी खाई कितनी ही 
    पगडंडियां गवाह हैं 
    कुदलियों, गैंतियों 
    खुदाई मशीनों ने नहीं 
    कदमों ने ही बनाए हैं - 

    रास्ते!