uba____

phir mulaqat hogi kahi'n.... accha chalti hun duao main yaad rakhna mere zikr ka zuba pe swaad rakhna.....

Grid View
List View
Reposts
  • uba____ 3w

    जो मन करा , सो लिख दिया।

    Aye khuda batade kya lakeero main likha haaan......��

    Read More

    जैसे जैसे घड़ी की सुइयाँ बढ़ रही हैं, मेरे दिल की धड़कने उसी रफ़्तार से तेज़ होरी हैं कि आने वाला साल जो चंद लम्हो में आने वाला है, न जाने कैसा होगा कितनी खुशियाँ, कितने बदलाव और क्या पता कितने ग़म
    इस साल काफ़ी लोगो को खोया है मैंने, इस साल कोई खुशी के मौके नहीं मिले, काफ़ी परेशानिया, बीमारिया रही और भी बहुत कुछ।
    जैसे हाथ मे से रेत फिसलती है वैसे ही समय गुज़र जाता है, पता ही नही चलपता, पुराने साल की यादो म खोये हुए नया साल तेज़ी से आरहा है।
    जब पीछे मुड़ के उन दिनों को देखती हूँ तो अपनी चीखें सुनाई देती है, वो काली अंधेरी रातें जब खामोशी भी चीखती थी। सब बदल जाएगा अब या यूं कहु के बादल चुका है सब , नया मौसम , नए लोग, नया साल और नए लोगो से मुलाक़ात। पुराने लोगो की कमी , हाँ, बहुत महसूस होती है और जो नए लोग, नए रिश्ते जुड़ रहे हैं उनसे ही तो अब थोड़ा सुकून मिलता है जिंदगी में।
    वक़्त बहुत जल्दी बीत गया, मेरे लिए सबसे न खुश महीने जुलाई रहा और उस में भी जुलाई की 31 तारीख और 29 की रात, जब दोहराती हूँ ज़िन्दगी के पिछले बिखरे हुए पन्ने तो रूह काँप जाती है, वो रात इतनी काली थी, दुख के बादल इतने तेज़ गरजे थे के घर तबाह होगये।
    लोग कहते हैं इंसान जब अपने लोगो, अपनी चीज़ों को खोता है तो उस के कुछ वक्त बाद समझदारी और सबर जन्म लेते है, मेरे साथ भी काफी हद तक ऐसा ही हुआ, समझदार होने लगता है इंसान और सबर भी बहुत आजाता है।
    लोग यह भी कहते हैं कि जब इंसान कुछ खोता है तो कुछ पाता भी है। इस साल में ने कुछ खोया है जिस की कीमत जो आगे मैं पाउ उसकी कोई कीमत ही नहीं। फिर भी इंतज़ार मे हुँ कि नया साल क्या खुशियाँ लेकर आएगा।

    -उबा

  • uba____ 5w

    As the sky gets shadowy and the cold gets more intense, i see a shooting star and suddenly make a wish for you to put your name on my palm lines, everwritten. on the other side you are still in the arms of sleep, unaware of my favourite desire.

    ©uba____

  • uba____ 6w

    The negativity within the thoughts is like tornado, breaking all the peace of beautiful dreams.
    ©uba____

  • uba____ 7w

    Wo haseen khwaab hai tu! ♡

    Read More

    रात के अंधेरे में चांदनी को छुपते हुए देखा है जिसे झपकती पलको ने नहीं देखा उसे बंद आंखों ने कुछ देर ठहर कर देखा है।

    -उबा

  • uba____ 8w

    Her smile is therapeutic enough to heal wounds of mine.

    ©uba____

  • uba____ 9w

    आँखें मेरी हरजगह ढूंढे तुझे बेवजह |

    Read More

    Or phir ek waqt aesa aata hai
    Mahez Yaadein guzarti hain dehleez se
    Insan nhi !
    ©uba____

  • uba____ 10w

    Sansein chal rahi hain uski lekin badan mai harkat nhi hai

    Cheekhein maar rhi hai vo koi sunne wala shaqs nhi hai

    ©uba____

  • uba____ 10w

    Inspired from juice wrld ( Lucid dream song lyrics)

    Read More

    I still see your shadow in my lucid dreams.

    ©uba____

  • uba____ 11w

    यादें ☘

    आज कई दिनों बाद उस कमरे में कदम पड़े जहाँ से निकलना ही कम होता था।

    कमरा देखा तो बहुत सूना पड़ा हुआ था, इतना सूना कि खामोशी की चींखें सुनाई दे रही थीं। खिड़की में से धूप की किरणें धूल में लिपटी हुई उस कुर्सी पर पड़ रही थीं जहाँ आप बैठ कर सुबह की चाय पिया करती थीं।
    बेड पर सफ़ेद रंग की चादर बिछी हुई थी और एक भी सिलवट या दाग नहीं था क्योंकि महीनों से वहाँ कोई गया ही नहीं, या यूँ कहूँ के किसी की हिम्मत और दिल नहीं हुआ जाने का।

    ड्रेसिंग टेबल देखी तो आईने में खुद को टूटा हुआ देखा , देखने को तो सारी चीज़ें अपनी उसी जगह पर थीं जहाँ आप देखना पसंद करती थीं लेकिन फिर भी मानो सब बिखरा हुआ था, इसलिए क्योंकि जिस शख्स ने सारी चीज़ें समेट समेट कर अपने हाथों से सजाई वो ही नहीं थी अब।
    अलमारी खोली तो कपड़े तो बहुत थे उस में, और कपड़ो में बसी यादें बहुत खूबसूरत जिस में से गुलाब की सी महक आरही थी। फिर कपड़े देखते देखते वही बैंगनी रंग की बनारसी साड़ी दिखी मुझे, वैसी के वैसी ही तय करी हुए रखी थी जैसे के आप छोड़ कर गयी थीं। साड़ी देख कर पहनने का दिल तो बहुत हुआ लेकिन अभी लायक नहीं थी में उसके तो सिर्फ ऐसे ही लगा कर देखली “ मेरी बच्ची प्यारी लग रही है ” यह अल्फ़ाज़ सुनने को नहीं मिले मुझे, कोई कहने वाला मौजूद ही नहीं था वहाँ कमरे में इसलिए बाहर गई, अब्बा को आवाज़ लगाई।

    अब्बा वैसे तो हमेशा वाओ या ब्यूटीफुल कहते थे इस बार उन्होंने सर पर हाथ रखते हुए कहा “ अल्लाह तुम्हे हमेशा खुश रखे, हर बुरी नज़र से बचायेे ” यह कहा और आँखों में आँसू भर लिए।
    इस बार मुझे कोई कॉम्पलिमेंट नहीं मिला शायद में आपकी साड़ी पहन कर इतनी खूबसूरत लग रही थी के अब्बा खामोश होगये।

    शायद वो मुझ में आपकी छवि देख रहे थे। फिर मैंने आईनेे में जाकर खुद को देखा तो इस बार आईने ने मुझे टूटा हुआ नहीं दिखाया बल्कि खूबसूरत दिखाया महीनों बाद।

    -उबा

  • uba____ 11w

    .